दम तोड़ती इन्सानियत..

दम तोड़ती इंसानियत

बीते बुधवार कर्नाटक के हुबली इलाके में एक अट्ठारह वर्षीय युवक अनवर अली ने सड़क पर  तड़प तड़प कर अपनी जान गँवा दी। सड़क दुर्घटना में लहूलुहान  युवा सड़क पर लगभग आधे घंटे तक मदद के लिए पुकारता रहा पर कोई उसकी मदद के लिए आगे नहीं आया। दुःख की बात ये है कि वहाँ मौजूद लोग घायल को अस्पताल पहुँचाने की जगह उसकी तस्वीर और वीडियो उतारने में लगे रहे।

ये कैसा समाज है,जहाँ व्यक्ति तड़प तड़प कर अपनी जान दे देता है और लोग तमाशबीन बने उसको मरने के लिए छोड़ देते हैं। मरते हुए आदमी की तस्वीर और वीडियो शेयर करने में आनन्दित होते ऐसे तमाशबीनों को एक बार पीड़ित की जगह किसी अपने की कल्पना करनी चाहिए जिससे उन्हें हालात की गंभीरता और दम तोड़ती इंसानियत का अंदाज़ा हो सके।

पुराने समय से चली आ रही  व्यवस्था की कमियों के चलते और व्यर्थ के क़ानूनी पचड़ों से बचने के लिए शायद लोग पीडितो की मदद करने में परहेज करते हैं ये एक पहलू तो हो सकता है पर ऐसा नहीं है कि सारी गलती व्यवस्था की ही है माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्देशानुसार अब सड़क हादसों में पीडितो की मदद पहुँचाने वालो की पहचान और पता गुप्त रखा जाता है और मुकदमा होने की सूरत में उन्हें अनावश्यक रूप से परेशान नहीं किया जाता।दिल्ली सरकार ने तो पीड़ित को मदद पहुँचाने वालो के प्रोत्साहन के लिए दो हज़ार रुपये के ईनाम की घोषणा भी हाल-फिलहाल में की है।

खासकर युवाओ का लोगो की मदद के लिए आगे न आना हमारे समाज के लिए एक गम्भीर चिंता का विषय है। सार्वजनिक परिवहन में बुजुर्गो के लिए आरक्षित सीटो पर बैठे और मोबाइल में व्यस्त दिखते युवा अगली पीढ़ी को कैसा समाज देकर जायेंगे ये सोचते ही रोंगटे खड़े हो जाते हैं।

आजकल के युवाओं की सोशल साइट्स पर लोकप्रिय होने की चाहत पागलपन की हद तक पहुँच गई है। अभी हाल ही में दो छात्र रेलवे लाइन पर सेल्फी लेने के मोह में अपनी जान गँवा बैठे जिसकी खबर सभी समाचार पत्रो की सुर्खियों में रही। बीते साल सेल्फी लेने में लापरवाही के कारण हुई मौतों में भारत अव्वल रहा।

सोशल साइट्स की छद्म दुनिया में जी रही युवा पीढ़ी को लाइक्स और कमेंट्स का चक्रव्यूह तोडना मुश्किल होता जा रहा है।जिसका खामियाजा उनके साथ-साथ उनके परिवार और समाज को भुगतना पड़ रहा।

अश्वनी राघव

Advertisements

One thought on “दम तोड़ती इन्सानियत..

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s